नींद पूरी न होने से क्या होता है ?

एक व्यक्ति को जीवन का सुचारु रूप से चलाने के लिए नींद का पूरा होना बहुत आवश्यक है हमे उठने के लिए अगर अलार्म लगाने की जरुरत पड़ती है ,या उठते समय किसी लती पेय पदार्थ को पिने की इच्छा होती है ,जिससे आप नींद पूरी हुए बिना चेतन हो जाते हो तो आपको और नींद की आवश्यकता है | जिससे आपका शरीर पूर्ण रूप से ऊर्जावान एवं मजबूत रहेगा |
नींद की कमी के कारण कई प्रकार की समस्याए शरीर में उजागर हो सकती है जिससे हमारा जीवन तनाव या अन्य परेशानियों से गुजरता है | मस्तिष्क को सुबह उठने पर पूरा फ्रेश एवं हल्का हो जाना चाहिए |,जिससे हमारे विचार एवं पॉजिटिव वाइब्रेशन बनते रहते है |

lacksleep02

१. नींद का ठीक तरह से पूरा न होने पर हमारा शरीर पूरी तरह जाग्रत नहीं हो सकता है जिससे बैचेनी महसूस होती है एवं
कम नींद और अधिक आत्म्विश्वास होने पर शरीर में तनाव उत्पन्न होते है तथा मन में शांति नहीं रहती है |
२.वाहन चलाते समय आँखों में चुभन एवं आँखों का जलन करना भी नींद पूरी न होने के कारण होता है ,जिससे वाहन
चलाते समय पूरी तरह चलाने पर ध्यान नहीं रहता है ,एवं दिमाग में अन्य कई व्यर्थ के ख्याल उतपन्न होने पर हमारा
आत्मविश्वास कम होने लगता है तथा अधिक काम की वजह से न सो पाने एवं लम्बी दुरी तक वाहन चलाने पर अक्सर नींद
आने का खतरा बढ़ जाता है जिससे चालक वाहन चलाते चलाते ही झपकियाँ लेने लगता है जिससे कई बड़ी दुर्घटनाये होती
है ,इसलिए सावधानी रखना आवश्यक है |
३. अधिक कार्य करने के बाद तथा नींद पूरी न होने एवं भोजन ठीक से नहीं करने पर शरीर में गर्मी बढ़ जाती है तथा अन्य
कई समस्याए शुरू हो जाती है जैसे पेट में जलन ,अपचन , शरीर का तापमान बढ़ना ,नींद पूरी न होने की वजह से शरीर में
पाचन तंत्र की क्षमता कम हो जाती है, जिससे आपका पेट ठीक से साफ़ नही हो पता एवं कब्ज जैसी बीमारी होने का खतरा
बढ़ जाता है |
४. मस्तिष्क को पूरा आराम मिलना बहुत आवश्यक होता है, जो व्यक्ति पर्याप्त रूप से नींद नहीं ले पाता है तथा मस्तिष्क को
पूरा आराम नहीं दे पाने से उसे मानसिक तनाव, शरीर में अकड़न, सिर भारी होना, चिड़चिड़ा व्यवहार हो जाना आदि |
५.दिन भर कार्य करने के पश्चात जब रात में हम सो रहे होते है तब हमारे शरीर में सोते समय कुछ क्रियांए होती रहती है
,शरीर में सुधार होता है तथा कोशिकाये रिलैक्स होती है एवं नयी कोशिकाओं का जन्म होता है जब हम सो रहे होते है तब
हमारे शरीर की लम्बाई सामान्य से ज्यादा हो जाती है | नींद पूरी न होने से मानसिक क्षमता एवं स्मरण सकती काम हो
जाती है जो की हमारे लिए बहुत ही खतरनाक होती है जिससे हमारी याददास्त कमजोर होने लगती है यहाँ तक की हमे
भूलने की बीमारी हो सकती है ,इसलिए नींद का पर्याप्त होना बाहत आवश्यक है