समय के बारे में आप क्या जानते हो

समय एक भौतिक राशि है जब समय बीतता है घटनाएँ घटित होती है तथा चलबिंदु स्थानांतरित होते है | इसलिए दो घटनाओ के होने
अथवा किसी गतिशील बिंदु के एक बिंदु से दूसरे बिंदु तक जाने के अंतराल को समय कहते है |आप सब ने यह तो सुना ही होगा समय किसी के लिए नही रूखता जो व्यक्ति समय की प्रबलता के साथ चलता है ,एवं समय का सद्पयोग करता है व्यक्ति के जीवनकाल कभी कोई परेशानी नहीं होती है समय उसकी कद्र करने वालो का हमेशा साथ देता है | समय के अनुकूल कार्य करने पर व्यक्ति को धन वैभव
की जीवन में कभी कोई आपत्ति होती है ,एवं ऐसे व्यक्ति का समाज में अलग पद प्रतिष्ठा होती है तथा सभी उसका सम्मान करते है समय ही इंसान के भाग्य का कारण बनता है |

time02

समय का सदुपयोग

समय सब के लिए एक समान होता है ,विद्यार्थी हो या प्रोफेसर , मजदुर हो या नेता सभी के जीवन में समय का बड़ा महत्त्व होता है
अर्थात जीवन के हर पल का सदुपयोग करना सीखे | आप जो कुछ भी अर्जित करते है चाहे वह धन हो या प्रतिभा समय का सदुपयोग ही
आपके जीवन की नींव मजबूत करता है, बच्चे को अगर जन्म से ही समय का सदुपयोग करने की सिख दी जाए , तो वह अपने जीवन को
एक सही दिशा में ले जायेगा | जो व्यक्ति समय की उपयोगिता से परिचित नहीं होता है ,वह अपने स्वर्णरूपी समय को फ़िज़ूलख़र्ची की बातो में एवं व्यर्थ की गतिविधिओ में गवा देगा हमेशा सज़क रहना चाहिए की हमारा समय व्यर्थ न जा रहा हो ,कोशिश करे कभी निकम्मे न बैठे रहे हर एक पल का सदुपयोग करे यकीनन एक दिन सफलता आपके कदम जरूर चूमेगी |
मनुष्य के जीवन में सबसे मूलयवान समय ही होता है | बिगड़ा स्वास्थ , खर्च हुआ धन तथा रूठा हुआ मित्र वापस आ जाता है ,परन्तु जो समय निकल चूका है सदुपयोग नहीं किया वो कभी लौटकर वापस नहीं आता है | समय किसी के लिए रुखता नहीं समय की सुई किसी का इंतज़ार नहीं करती है वह निरंतर चलती रहती है तथा हमे भी उसके साथ निरंतर चलना होगा | हिंदी के कवी कबीरदास जी ने समय की महत्वता को बताते हुए लिखा है कल करे सो आज कर ,आज करे सो अब इससे समय की महत्वता को आसानी से समझा जा सकता है |

time03

समय मापन

अतिप्राचीन काल में समय जानने तथा उसका मापन करने के लिए कोई उपकरण नहीं था ,सूर्य की विभिन्न अवस्थाओं के आधार पर प्रातः ,दोपहर,रात्रि की कल्पना की यह समय स्थूल रूप से प्रत्यक्ष है | इसी प्रकार सूर्य की कक्षा गितिविधियों से ही पक्षों ,महीनो, ऋतुओ
एवं वर्षो की कल्पना की होगी | रात के समय का ज्ञान नक्षत्रो के आहार पर किया जाता था उसके बाद पानी तथा बालू के घटीयंत्र बनाये
गए ,यह भारत में प्राचीन काल से प्रचलित है | वर्तमान में हम घड़ी का उपयोग करते है जो की सटीक समय दर्शाती है |

time01

समय सीमा

संसार में हमे सभी वस्तु या व्यवस्था असीमित रूप में प्राप्त हो सकती है परन्तु समय हर किसी को सिमित ही मिलता है,जो इसकी कद्र कर लेता है वह परमात्मा के अनुकूल जीवन में मोक्ष प्राप्त कर लेता है समय को एक अच्छा चिकित्स्क भी कहा गया है यह बड़े से बड़े
घाव को भी भर देता है ,कहते है ! जीवन चार दिन का होता है दो दिन आपके हक़ में दो दिन आपके खिलाफ जब समय आपके हक़ में होतो गुरुर मत करना और आपके खिलाफ हो तो थोड़ा सबर जरूर करना