आत्महत्या विकल्प हैं

वर्तमान मे रोज अखबारों मे, टीवी मे, सोशल मिडिया पर कई खबरों को हम सुनते है की किसी लड़के ने आत्महत्या करली किसी लड़की ने आत्महत्या करली ! लोगो ने आत्महत्या को एक विकल्प बना लिया हैं जीवन मे ज्यादा दुख हुआ ज्यादा पछतावा हुआ तोह आत्महत्या का विकल्प हैं मर जाते हैं कोई गलती करके इतना पछतावा महसूस करता है की आत्महत्या कर लेता हैं | परन्तु आत्महत्या कोई विकल्प नहीं हैं बल्कि जीवन से पलायन करना हैं स्वयं से हिंसा करना उचित नहीं है | जीवन मे जो भी दुख हैं परेशानिया है कही नहीं कही उनके हम ही ज़िम्मेदार हैं तथा कभी कभी दुसरो की भी वजह से हम खुद को तकलीफ देने लगते हैं | हमारे जीवन मे आने वाले सभी दुख सुख हमारे कर्मो का ही परिणाम होता हैं एक व्यक्ति आत्महत्या ज़ब करता हैं ज़ब वो अपने स्वयं के कर्मो से ही परेशानी उठाता हैं तथा खुद से घृणा करने लग जाता है

stance-suicide01

परन्तु आत्महत्या इसका कोई विकल्प नहीं हैं मृत्यु के बाद कुछ नहीं होगा तुम फिर किसी नये जीवन को प्राप्त हो जाओगे और एक नये दुख मे जियोगे जो इस दुख से भी अधिक कष्टदेय होगा | संसार मे जो भी आप सोचते है तथा जिस दिशा मे आपके विचार प्रबल है आप उसी दिशा मे जीवन को आगे बढ़ते हुए देखते हैं | जीवन को सकारात्मक विचारों से जीना आवश्यक हैं, सकारात्मकता ही कई परेशानियों का सामना करने मे मददगार होती है | कर्मो से कोई भाग नहीं सकता क्यूंकि तुम खुद से कभी भाग नहीं सकते तो तुम्हारे कर्मो से कैसे छुटकारा पा सकते हो | आत्महत्या हमारी आत्मा की हत्या हैं तथा हम भी आत्मा हैं खुद को दुखी करना ही आत्महत्या हैं | जीवन मे सकारात्मक भाव ही जीवन की सभी कर्मो से हमें छुटकारा दिला सकता हैं |